Ya Ali Lyrics Zubeen Garg

Ya Ali Lyrics: The song is sung by and has music by Pritam While Sayeed Quadri has written the Ya Ali lyrics.

Ya Ali Song Zubeen Garg Details

Vocal/Singer
Music Comsposer Pritam
Lyricist Sayeed Quadri

Ya Ali Lyrics Zubeen Garg

या अली या अली या अली
या अली रहम अली या अली
यार पे कुर्बान है सभी
या अली मदद अली
या अली ये मेरी जान ये ज़िन्दगी
इश्क पे हाँ मिटा दूं लुटा दूं मैं अपनी खुदी
यार पे हाँ लुटा दूं मिटा दूं मैं ये हस्ती
या अली रहम अली या अली
यार पे कुर्बान है सभी
या अली मदद अली
या अली ये मेरी जान ये ज़िन्दगी
या अली या अली या अली
मुझे कुछ पल दे कुर्बत के
फ़कीर हम तेरी चाहत के
रहे बेचैन दिल कब तक
मिले कुछ पल तो राहत के
चाहत पे इश्क पे हाँ
मिटा दूं लुटा दूं मैं अपनी खुदी
यार पे हाँ लुटा दूं मिटा दूं मैं ये हस्ती
या अली रहम अली या अली
यार पे कुर्बान है सभी
या अली मदद अली
या अली ये मेरी जान ये ज़िन्दगी
बिना तेरे न इक पल हो
न बिन तेरे कभी कल हो
ये दिल बन जाये पत्थर का
न इसमें कोई हलचल हो
सनम पे हाँ इश्क पे हाँ
मिटा दूं लुटा दूं मैं अपनी खुदी
कसम से हाँ लुटा दूं मिटा दूं मैं ये हस्ती
या अली रहम अली या अली
यार पे कुर्बान है सभी
या अली मदद अली
या अली ये मेरी जान ये ज़िन्दगी
या अली या अली या अली
देई दादा रे देई दादा रे(या अली)
देई दा दी दी री रे(या अली)
देई दा दी दी री रे(या अली)
देई दा दी दी री रे दी रा(या अली)
देई दा दी दी री रे(या अली)
देई दा दी दी री रे (या अली)
देई दा दी दी री रे दी रा (या अली)

Back to top button